टकराहट

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

टकराहट संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ टकराना]

१. टकराने का भाव या क्रिया । उ॰—वह स्वर जिसकी तीखी सशक्त टकराहट से, नारी की आत्मा में भी कुछ जग जाता है ।—ठंडा॰, पृ॰ ७१ ।

२. संघर्ष । लड़ाई ।