ढँग

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ढँग पु संज्ञा पुं॰ [हिं॰ ढँग] अभिप्राय साधने का उपाय । डोल । दे॰ 'ढंग' । उ॰— वाही के जैए बलाय लौं, बालम ! हैं तुम्हे नीकी बतावति हो ढँग ।— देव (शब्द॰) ।