ढँढोरना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ढँढोरना † क्रि॰ स॰ [हिं॰ ढूँढना] टटोलकर ढूँढना । हाथ डालकर इधर उधर खोजना । उ॰— (क) तेरे लाल मेरो माखन खायो । दुपहर दिवस जानि घर सूनो ढूँढ़ि ढँढोरि आपही आयो ।— सूर (शब्द॰) । (ख) बेद पुरान भागवत गीता चारों बरन ढँढोरी— कबीर॰ श॰, भा॰ १, पृ॰ ८५ ।