ढँपना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ढँपना ^१ क्रि॰ अ॰ [हिं॰ ढकना] किसी वस्तु के नीचे पड़कर दिखाई न देना । किसी वस्तु के ऊपर से छेक लेने के कारण उसकी ओट में छीप जाना । संयो॰ क्रि॰—जाना ।

ढँपना ^२ संज्ञा पुं॰ ढाकने की वस्तु । ढक्कन ।