ढहरना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ढहरना † क्रि॰ अ॰ [हि॰ ढार]

१. लुढ़कना । गिरना ।

२. (किसी की ओर) गिरना झुकना या अनुकूल होना । उ॰— ढीलै सै ढए से फिरत ऐसे कौन पै ढहे हो ।—नंद॰, गं॰ पृ॰ ३५६ ।