ढुँढा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ढुँढा ^१ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ ढुण्ढा]

१. पुराण के अनुसार एक राक्षसी का नाम जो हिरययकशिपु की बहिन थी । विशेष— इसको शिव से यह वर प्राप्त था कि अग्नि में न जलेगी । जब प्रह्लाद को मारने के अनेक उपाय करके हिरण्यकशिपु हार गया तब उसने ढुंढा को बुलाया । वह प्रह्लाद को लेकर आग में बैठी । बिष्णु भगवान् की कृपा से प्रह्लाद तो न जले, ढुँढा जलकर भस्म हो गई । †

२. भुने अन्न लाई आदि का चाशनी के साथ बना लड्डू ।