तंड

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

तंड ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰ ताण्डव] नृत्य । नाच । उ॰— बहुत गुलाब के सुगंध के समीर सने परत कुही है जल जंत्रन के तंड की ।— रसकुसुमाकर (शब्द॰) ।

तंड ^२ संज्ञा पुं॰ [सं तण्डा] एक ऋषि का नाम ।

तंड पु ^२ पुं॰ संज्ञा पुं॰ [सं॰ तण्डा]

१. वध । संहारा ।

२. आक्रमण । प्रहार । उ॰— जिन बीरन बसि करन दुंद आराधत तंडहि ।— पृ॰ रा॰ ६ ।५९ ।