तंभन

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

तंभन संज्ञा पुं॰ [सं॰ स्तम्भन] श्रृंगार रस के १० सात्विक भावों में से एक । स्तंभन । उ॰— आरंबन तंभन स्तंभ परिरंभन कचगृह संरभन चुंबन घनेरे ई ।—देव (शब्द॰) ।