तकना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

तकना †पु क्रि॰ अ॰ [हिं॰ ताकना(सं॰ तर्कण)]

१. देखना । निहारना । अवलोकन करना । उ॰—(क) देखि लागि मधु कुटिल किराती । जिमि गँव तकइ लेऊँ केहि भाँती ।—तुलसी (शब्द॰) (ख) कहि हरिदास जानि ठाकुरी बिहारी तकत न भोर पाट ।—स्वामी हरिदास (शब्द॰) । (ग) तेरे लिये तजि ताकि रहे तकि हेत किए बलबीर विहारी ।—सुंदरीसर्वस्व (शब्द॰) ।

२. शरण लेना । पनाह लेना । आश्रय लेना । उ॰—देवन तके मेरु गिरि खोहा ।—तुलसी (शब्द॰) ।