तक्मीम

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

तक्मीम संज्ञा स्त्री॰ [अ॰]

१. सीधा करना ।

२. मूल निश्चित करना ।

३. पंचांग । जंतरी । उ॰—मुनज्जिम अक्ल का देखा ताजा तक्वीम । किया है बात सूँ उस वक्त तरकीम ।—दक्खिनी॰, पृ॰ २७६ ।