तुच्छ

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

तुच्छ का अर्थ होता है अत्यन्त साधारण।

उदाहरण

  • व्यक्ति के कर्म ही उसे तुच्छ या महान बनाते हैं।
  • जब संतोष रूपी धन प्राप्त हो जाता है तो अन्य सारे धन तुच्छ हो जाते हैं।
  • तलाकशुदा महिला को तुच्छ निगाह से देखा जाना अनुचित है।

मूल

  • तुच्छ संस्कृत मूल का शब्द है।

अन्य अर्थ

  • मामूली
  • साधारण
  • छोटा

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

तुच्छ ^१ वि॰ [सं॰]

१. भीतर के खाली । खोखला । निःसार । शून्य ।

२. क्षुद्र । नाचीज । उ॰—जिन्हें तुच्छ कहते हैं, उनसे भागा क्यों, तस्कर ऐसा?—साकेत, पृ॰ ३८८ ।

३. ओछा । खोटा । नीच ।

४. अल्प । थोड़ा ।

५. शीघ्र । उ॰— छिप्र सु सरवर तुच्छ लघु राजा रंभा सोइ ।—अनेकार्थ॰ पृ॰ ९८ ।

९. छोड़ा हुआ । त्यक्त (को॰) ।

७. गरीब । दरिद्र (को॰) ।

८. दयनीय । दुखी (को॰) ।

तुच्छ ^२ संज्ञा पुं॰

१. सारहीन छिलका । भूसी ।

२. तूतीया ।

३. नौल का पौधा ।