त्रिगढ़

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

त्रिगढ़ पु संज्ञा पुं॰ [सं॰ त्रि + गढ़] ब्रह्मांड । सहस्रार । उ॰—कूढ़ अरु कपट की झपट कूँ छाँडि़ दे त्रिगढ़ सिर बाय अनहद्द तूरा ।—राम॰ धर्म॰, पृ॰ १३७ ।