त्रैलोक्य

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

त्रैलोक्य संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. स्वर्ग मर्त्य और पाताल ये तीनों लोक ।

२. २१ मात्राओं का कोई छंद ।