दुपट्टा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

दुपट्टा संज्ञा पुं॰ [हिं॰ दो + पाट] [स्त्री॰ अल्पा॰ दुपट्टी]

१. ओढ़ने का वह कपड़ा जो दो पाटों को जोड़कर बना हो । दो पाट की चद्दर । चादर । मुहा॰—दुपट्टा तानकर सोना = निश्चित होकर सोना । बेखटके सोना । दुपट्टा बदलाना = सहेली बनाना । सखी बनाना । (स्त्री॰) ।

२. कंधे या गले पर डालने का लंबा कपड़ा ।