धानी

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

धानी ^१ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰]

१. वह जो वारण करे । वह जिसमें कोई वस्तु रखी जाय ।

२. स्थान । जगह । जैसे, राजधानी । उ॰— समथल ऊँच नीच नहिं कतहुँ पूर्ण धर्म धन धानी । सरस सुरस रंजित नीरस हत कोसलपति रजधानी ।—रघु- राज (शब्द॰) ।

२. पीलू का पेड़ ।

३. धनिया ।

धानी ^२ संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ धान + ई (प्रत्य॰)] एक प्रकार का हलका हरा रंग जो धान को पत्तो के रंग का सा होता है । तोतई ।

धानी ^१ वि॰ धान की पत्ती के रंग का । हलके हरे रंग का ।

धानी ^४ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ धाना] भूना हुआ जौ या गेहूँ । यौ॰— गुड़धानी ।

धानी पु † ^५ संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰] दे॰ 'धान्य' ।

धानी ^६ संज्ञा स्त्री॰ संपूर्ण जाति की एक संकर रागिनी ।