नखी

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

नखी ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰ नखिन्]

१. शेर ।

२. चीता ।

३. वह जानवर जो नाखून से किसी पदार्थ को चीर या फाड़ सकता हो ।

४. बढ़े हुए नाखूनवाला । उ॰—लाखों मौनी फिरौ लाखों बाघंबरी । उर्धमुखी औ नखी लाखों लोह लंगरी । लाखों जल में पड़े (लाखों) धूरि को छानतें । अरे हाँ पलटू जामें राजी राम औ कोउ नहिं जानते ।—पलटू॰, भा॰ २, पृ॰ ९२ ।

नखी ^२ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰] नख नामक गंधद्रव्य ।