नमकहराम

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

नमकहराम संज्ञा पुं॰ [फा॰ नमक + अ॰ हराम] वह जो किसी का दिया हुआ अन्न खाकर उसी का द्रोह करे । अपने अन्नदाता को ही हानि पहुँचानेवाला मनुष्य । कृतघ्न ।