निष्ठा

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

निष्ठा संज्ञा स्त्री॰ [सं॰]

१. स्थिति । अवस्या । ठहराव ।

२. निर्वाह ।

३. मन की एकांत स्थिति । चित का जमना ।

४. विश्वास । निश्चय ।

५. धर्मगुरु या बड़े आदि के प्रति श्रद्धा भक्ति । पूज्य बुद्धि ।

६. विष्णु जिन में प्रलय के समय समस्त भूतों की स्थिति होगी ।

७. इति । समाप्ति ।

८. नाश ।

९. सिद्धावस्था की अंतिम स्थिति । ज्ञान की वह चरमा- वस्था जिसमें आत्मा और ब्रह्म की एकता हो जाती है ।

१०. याचना (को॰) ।

११. व्रत । उपवास (को॰) ।

१२. कौशल । चातुर्य । दक्षता (को॰) ।

१३. व्याकरण में 'क्त' और 'क्तवतु' प्रत्यय ।