पंचकोश

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

पंचकोश संज्ञा पुं [सं॰ पञ्चकोश] उपनिषद् और वेदांत के अनुसार शरीर संगठित करनेवाले पाँच कोश (स्तर) । विशेष—इनके नाम और इनकी परिभाषा ये हैं—अन्नमय कोश, प्राणमय कोश, मनोमय कोश, विज्ञानमय कोश ओर आनंद- मय कोश । इनमें स्थूल शरीर को अन्नमय कोश, पाँचों कर्मेन्द्रियों सहित प्राण को प्राणमय कोश, पाँचों ज्ञानोन्द्रियों के सहित मन को मनोमय कोश, पाँचो ज्ञानेन्द्रियों के सहित बुद्धि को विज्ञानमय कोश तथा अहंकारात्मक या अविद्यात्मक को आनंदमय कोश कहते हैं । पहले को स्थूल शरीर, दूसरे को सूक्ष्म शरीर ओर तीसरे, चौथे ओर पाँचवें को कारण शरीर कहते हैं ।