पंचयाम

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

पंचयाम संज्ञा पुं॰ [सं॰ पञ्चयाम] दिन । विशेष—शास्त्रों में दिन के पाँच पहर और रात के तीन पहर माने गए हैं । रात के पहले चार दंड और पिछले चार दंड दिन में लिए गए हैं ।