फाटक

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

फाटक ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰ कपाट]

१. बड़ा द्वार । बड़ा दरवाजा । तोरण । उ॰—चारों और ताँबे का कोट और पक्की चुआन चौड़ो खाई स्फटिक के चार फाटक तिनमें अष्टधाती किव्राँड़ लगे हुए... ..... ।—लल्लू (शब्द॰) ।

२. दरवाजे पर की बैठक । ‡

३. मवेशीखाना । काँजी हौस ।

फाटक ^२ संज्ञा पुं॰ [हिं॰ फटकना] फटकन । पछोड़न । भूसी जो अनाज फटकने से बची हो । उ॰—फाटक दै कर, हाटक माँगत भोरी निपटहि जानि ।—सूर (शब्द॰) ।