बढ़ई

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

संज्ञा

अनुवाद

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

बढ़ई संज्ञा पुं॰ [सं॰ वर्द्वकि, प्रा॰ बढ्ढ़इ] काठ को छीलकर और गढ़कर अनेक प्रकार के समान बनानेवाला । लकडी़ का काम करनेवाला ।