बही

विक्षनरी से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बही संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ बद्ध, *बद्धिता, हिं॰ बँधी ?] हिसाब किताब लिखने की पुस्तक । सादे कागजों का गड जो एक में सिला हो और जिसपर क्रम से नित्य प्रति का लेखा लिखा जाता हो । उ॰—खाता खत जान दे बही को बहि जान दे ।—पदमाकर (शब्द॰) । यौ॰—बहीखाता । रोकड़ बही । हुंडी बही । मुहा॰—बही पर चढ़ना या टँकना = हिसाब की किताब में लिख लिया जाना । बही पर चढ़ाना या टाँकना = बही पर लिखना । दर्ज करना ।