भँड़हर

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

भँड़हर संज्ञा पुं॰ [सं॰ भाण्ड]

१. कच्ची मिट्टी का पकाया हुआ पात्र । मिट्टी के बर्तन ।

२. पिंड । शरीर । (लाक्ष॰) । उ॰—चढ़त चढा़वत भँडहर फोरी । मन नहिं जाने केकर चोरी ।—कबीर॰ बी॰ (शिशु॰), पृ॰ २१४ ।