भगतिया

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

भगतिया संज्ञा पुं॰ [हिं॰ भक्त] [स्त्री॰ भगतिन] राजपूताने की एक जाति का नाम । उ॰—सेठ की दौलत पर गीध के समान ताक लगाए बैठे हुए शिकार भाँड़ भगतिए दूर दूर से आ जमा होने लगे ।—बालकृष्ण भट्ट (शब्द॰) । विशेष—इस जाति के लोग वैष्णव साधुओं की संतान हैं जो अब गाने बजाने का काम करेत हैं और जिनकी कन्याएँ वेश्याओं की वृत्ति करके अपने कुटंब का भरण पोषण करती हैं और भगतिन कहलाती हैं । (बंगाल में भी वैष्णव साधुओं की लड़कियाँ वेश्यावृत्ति से अपना जीवन निर्वाह करती हैं और अपनी जाति बोष्टम वा बैष्णव बतलाती हैं ।)