मलमल

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

मलमल संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ मलमल्लक] एक प्रकार का पतला कपड़ा जो बहुत बारीक सूत से बुना जाता है । उ॰—(क) मलमल खासा पहनते खाते नागर पान । टेढ़ा होकर चालते करते बहुत गुमान ।—कबीर (शब्द॰) । (ख) कमरी थोरे दाम की आवै बहुतै काम । खासा मलमल वाफता उनकर राखै मान ।—गिरधराराय (शब्द॰) । विशेष—प्राचीन काल में यह कपड़ा भारतवर्ष में विशेषकर बंगाल और बिहार में बुना जाता था और वहीं से भिन्न भिन्न देशों में जाता था । अब तक ढाके और मुर्शिदाबाद में अच्छी मलमल बनती है ।