महती

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

महती संज्ञा स्त्री॰ [सं॰]

१. नारद की वीणा का नाम ।

२. बृहती । कँटाई । बनभंटा ।

३. कुश द्वीप की एक नदी का नाम जो पारियात्र पर्वत से निकली है ।

४. महिमा । महत्व । बड़ाई । उ॰—मातु पितु गुरु जाति जान्यो भली खोई महति ।—सूर (शब्द॰) ।

५. योनि का फैल जाना जो एक रोग माना जाता है ।

६. वह हिचकी जिससे गर्भस्थान षोड़ित हो और देह में कंप हो ।

७. वैश्यों की एक जाति ।

महती द्वादशी संज्ञा स्त्री॰ [सं॰] भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की वह द्वादशी जो श्रवण नक्षत्र में पड़े । ऐसी द्वादशी को व्रत आदि करने का विधान है ।