महिष

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

महिष संज्ञा पुं॰ [सं॰] [स्त्री॰ महिषी]

१. भैंसा ।

२. वह राजा जिसका अभिपेक शास्त्रानुसार किया गया हो ।

३. एक राक्षस का नाम जिसे पुराणनुसार दुर्गा देवी ने मारा था ।

४. एक वर्णासंकर जाति का नाम जो स्मृतियों में क्षत्रिय पिता और तीवरी माता से उत्पन्न कही गई है ।

५. एक साम का नाम ।

६. पुराणनुसार कुश द्वीप के एक पर्वंत का नाम ।

७. कुश द्वीप के एक वर्ष का नाम ।

८. भागवत के अनुसार अनुहाद के पुत्र का नाम ।

९. निरुक्त के अनुसार देवगण का एक भेद (को॰) ।

१०. मत्स्यपुराणनुसार एक प्रकार की अग्नि (को॰) ।