यथालब्ध

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

यथालब्ध ^१ वि॰ [सं॰] जितना प्राप्त हो, उसी के अनुसार । जो कुछ मिले, उसी के मुताविक ।

यथालब्ध ^२ संज्ञा स्त्री॰ जैनियों के अनुसार, जो कुछ मिल जाय उसी से संतुष्ट रहने की वृत्ति ।