रंगत

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

रंगत संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ रंग+त (प्रत्य॰)]

१. रंग का भाव । जैसे,—इसकी रंगत कुछ काली पड़ गई है ।

२. मजा । आनंद । जैसे,—जब आप वहाँ पुहँचेंगे, तभी रंगत आवेगी । क्रि॰ प्र॰—खिलाना ।—खुलना ।—जमना । मुहा॰—रंगत आना=मजा होना । आनंद होना ।

३. हालत । दशा । अवस्था । जैस, आजकल उनकी रंगत अच्छी नहीं है ।