लकसी

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

लकसी संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ लकड़ी + अँकुसी] फल आदि तोड़ने की लग्गी जिसकी ऊपरी सिरे पर लोहे का चंद्राकर फल या एक तिरछी छओटी लकड़ी बँधी रहती है । विशेष—इसी लग्गी को हाथ में लेकर ऊपरी सिरे में बँधी हुई छोटी लकड़ी या फल की सहयता से ऊँचे वृक्षों के पल आदि तोड़ते हैं ।