लगाम

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

लगाम का अर्थ होता है बागडोर।

उदाहरण

  • भारत-पाक सीमा पर आतंकी गतिविधियो पर लगाम लगनी चाहिये।
  • बूढ़ी घोड़ी लाल लगाम
  • ज़बान को लगाम देना।

मूल

  • नकेल

अन्य अर्थ

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

लगाम संज्ञा स्त्री॰ [फा़॰]

१. लोहे का वह काँटेदार ढाँचा जो घोडे़ के मुँह के अंदर रखा जाता है और जिसके दोनों ओर रस्सा या चमडे का तस्मा आदि बँधा रहता है । दतालिका । कविका । क्रि॰ प्र॰—उतारना ।—चढाना ।—लगाना । मुहा॰—लगाम चढा़ना या देना = (१) किसी को कोई कार्य करने से, विशेषतः बोलने से रोकना । (२) लंगोट कसना । (बाजारू) ।

२. इस ढाँचे के दोनों ओर बँधा हुआ रस्सा या चमडे़ का तस्सा जो सवार या हाँकनेवाले के हाथ में रहता है । सवार या हाँकनेवाला इसी रस्से या तस्मे की सहायता से घोडे़ का चलाता, रोकता, इदर उधर मोड़ता और अपने वश में रखता है । रास । बाग । मुहा॰—लगाम लिए फिरना = किसी को पकडने, बाँधने या वश मे करने के लिये उसका पीछा करना । बराबर ढूँढ़ते फिरना ।