लगावन

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

लगावन पु † संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ लगाव] लगाव । संबंध । वास्ता । उ॰—हम हैं अफसर तुम हौ बावन । हमारी तुमरी कहाँ लगा- वन ।—रामकृष्ण (शब्द॰) ।

२. वह जिसके सहारे कुछ कुछ खाया जाय । जैसे,—दाल, शाक, चटनी, आचार, नमक, मिर्च आदि ।

३. जलाने की लकडी, उपला आदि ईधन ।