लग्घड़

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

लग्घड़ संज्ञा पुं॰ [देश॰]

१. (बडा़) बाज । सचान ।

२. एक प्रकार का चीता जो सामान्य चीते से बडा़ होता है । विशेष—इसे शिकार करना सिखाया जाता है । यह प्रायः छह फुट लंबा होता है । इसकी आँखों पर जंजीर से पट्टियाँ बँधी रहती हैं । इसी को 'लकड़बग्घा' भी कहते हैं ।