वंदन

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

वंदन संज्ञा पुं॰ [सं॰ वन्दन]

१. स्तुति और प्रणाम । पूजन । विशेष—वंदन षोडशोपचार पूजन में है । यह समस्त पदों के अंत में 'वंदन' शब्द से पूजित या पूज्य का अर्थ देता है । (जैसे,—जगवंदन)

२. शरीर पर बनाऐ हुए तिलक आदि चिह्न ।

३. एक विष का नाम ।

४. एक असुर का नाम ।

५. एक ऋषि का नाम ।

६. वंदाक । बाँदा ।