वक्त

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

वक्त ^१ संज्ञा पुं॰ [अ॰ वक्त]

१. समय । काल । मुहा॰—वक्त काटना = (१) किसी प्रकार समय बिताना । (२) जी बहलाना । वक्त की चीज = (१) किसी समय या ऋतु विशेष में मिलनेवाली चीज । (२) किसी विशेष समय में गाया जानेवाला गीत या राग । जैसे,—कोई वक्त की चीज गाइए । वक्त खोना = समय नष्ट करना ।

२. किसी बात के होने का समय । अवसर । मौका । मुहा॰—वक्त पर = अवसर आने पर । कोई विशेष परिस्थिति होने पर । जैसे,—इसे रख छोड़ो, वक्त पर काम आवेगी । वक्त ताकना = मौका देखना । इस बात की प्रतीक्षा में रहना कि कब उपयुक्त अवसर मिले और कोई बात करूँ । वक्त हाथ से देना = अवसर चूकना । मौका आने पर भी काम न करना ।

३. इतना समय कि कोई काम किया जा सके । अवकाश । फुरसत । क्रि॰ प्र॰—निकलना ।—निकालना ।—मिलना ।

४. विपत्काल । मुसीबत का समय (को॰) ।

५. मौसिम (को॰) ।

६. मरने का नियत समय । मृत्युकाल । क्रि॰ प्र॰—आ जाना ।—आ पहुँचना ।

वक्त पु ^२ वि॰ सं॰ वक्तृ 'वक्ता' । दे॰ 'वक्ता' । उ॰—उनईस सहस गरु- णह पुरान । श्रोतान वक्त भक्ती उरान ।—पृ॰ रा॰ १ ।४० ।