वारिस

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

वारिस संज्ञा पुं॰ [अ॰]

१. दायाद । दायभागी पुरुष ।

२. वह पुरुष जो किसी के मरने के पीछे उसकी संपत्ति आदि का स्वामी और उसके ऋण आदि का देनदार हो । उत्तराधिकारी ।

३. रक्षक ।