विधान

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

विधान संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. किसी कार्य का आयोजन । काम का होना या चलना । विन्यास । संपादनक्रम । अनुष्ठान । जैसे— जो कुछ करना है, उसी का विधान अब होना चाहिए । क्रि॰ प्र॰—करना ।—होना ।

२. व्यवस्था । प्रबंध । इंतजाम । बंदोबस्त । जैसे,—पहले ही से ऐसा विधान करो कि कार्य आरंभ करने में देर न हो ।

३. कार्य करने की रीति । विधि । प्रणाली । पद्धति । जैसे— शास्त्रों में ऐसा विधान है । उ॰—तुम विज्ञ विविध विधान ।— केशव (शब्द॰) ।

४. रचना । निर्माण ।

५. ढंग । तरकीब । उपाय । युक्ति । जैसे—कोई ऐसा विधान निकालो कि कार्य निर्विघ्न हो जाय ।

६. उतना चारा जितना हाथी एक बार मुँह में डालता है । हाथी का ग्रास ।

७. हानि पहुँचाने का दाँवपेंच ।