शंकुच्छाया

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

शंकुच्छाया संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ शङ्कुच्छाया]

१. शंकु की छाया ।

२. प्राचीन काल की बारह अंगुल की एक नुकीलो खूँटी जिसका ऊपरी भाग नुकीला होता था । इसकी छाया से समय का परिमाण मालूम किया जाता था ।