शकि्तृ

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

शकि्तृ संज्ञा पुं॰ [सं॰] वशिष्ठ मुनि के सबसे बड़े लड़के का नाम । विशेष—महाभारत में लिखा है कि एक बार रास्ते में राजा कल्माषपाद से इनको कहा सुनी हो गई, जिसपर राजा ने इन्हें एक कोड़ा जमा दिया । इसपर इन्होंने राजा को शाप दिया कि तुम राक्षस हो जाओ । तदनुसार राजा राक्षस हो गया और पहले उसने इन्हीं को भक्षण कर लिया ।