शकुनी

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

शकुनी ^१ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰]

१. श्यामा पक्षी ।

२. गोरैया पक्षी की मादा ।

३. पूराणानुसार एक पूतना का नाम जो बहुत क्रूर और भयंकर कही गई है ।

४. सुश्रुत के अनुसार एक प्रकार का बालग्रह । विशेष—कहते हैं, जिस बालक पर इसका आक्रमण होता है, उसके अंग शिथिल पड़ जाते हैं, शरीर में जलन होती है, फोड़े फुसियाँ आदि निकल आती है शरीर से पक्षियों की सी गंध आने लगती है और वह रह रहकर चौंक उठता है ।

शकुनी ^२ संज्ञा पुं॰ [सं॰ शकुन + ई (प्रत्य॰)] वह जो शकुनों का शुभ और अशुभ फल जानता हो । शकुनज्ञ ।

शकुनी ^३ संज्ञा पुं॰ [सं॰ शकुनि] दुर्यौधन का मामा सौवल । विशेष दे॰ 'शकुनि' ।उ॰—वे दुःशासन और शकुनी बन गए ।— प्रेमघन॰, भा॰ २, पृ॰ ३०७ ।