शफक

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

शफक संज्ञा स्त्री॰ [अ॰ शफ़क़] प्रातःकाल या सायंकाल आकाश में दिखाई पड़नेवाली ललाई, विशेषः सध्या के समय दिखाई पड़नेवाली लालिमा जो बहुत ही मनोहर होती है । उ॰—चढ़ा शाम को बाम पर गर वो माह । शफक का नया रंग लाई घटा ।—भारतेंदु ग्रं॰, भा॰२, पृ॰ ४९० । मुहा॰—शफक फूलना = प्रातःकाल या संध्या के समय आकाश में लालिमा फैलना ।