संकेत

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

संज्ञा पुल्लिंग

  1. इशारा
  2. अंगुल्यादेश

प्रयोग

संबंधित शब्द

अन्य भाषा में

वर्णक्रम सहचर

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

संकेत संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. अपना भाव प्रकट करने के लिये किया हुआ कायिक परिचालन या चेष्टा । इशारा । इंगित ।

२. प्रेमी प्रेमिका के मिलने का पूर्वनिर्दिष्ट स्थान । वह स्थान जहाँ प्रेमी और प्रेमिका मिलना निश्चित करें । सहेट ।

३. कामशास्त्र संबंधी इंगित । श्रृंगार चेष्टा ।

४. प्रेमी और प्रेमिका द्वारा किया गया निश्चय (को॰) ।

५. परंपरा । करार । ठहराव (को॰) ।

६. व्यवस्था । विधान । शर्त (को॰) ।

७. चिह्न । निशान ।

८. पते की बातें । उ॰—सरुष जानकी जानि कपि कहे सकल संकेत । दीन्हि मुदिका लोन्हि सिय प्रीति प्रतीति समेत ।—तुलसी (शब्द॰) ।

९. न्याय, व्याकरण आदि में एक वृत्ति । यह शब्द या पद इस प्रकार का अर्थबोधन करे यह संकेत या इच्छा (को॰) । यौ॰—संकेतकेतन, संकेतगृह, संकेतनिकेत, संकेतनिकेतन, संकेत- भुमि, संकेतस्थल, संकेतस्थान = प्रेमी प्रेमिका का मिलन स्थान । सहेट ।

संकेत † वि॰ [हिं॰]

१. दे॰ 'सँकरा' ।

२. दे॰ 'संकेत ^१' ।