समझना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

क्रिया[सम्पादन]

अनुवाद[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

समझना क्रि॰ अ॰ [सं॰ सम्यक् ज्ञान]

१. किसी बात को अच्छी तरह जान लेना । अच्छी तरह मन में बैठाना । भले भाँति हृदयंगम करना । अच्छी तरह ध्यान में लाना । ज्ञान प्राप्त करना । बोध होना । बूझना । जैसे,—मैने जो कुछ कहा, वह तुम समझ गए होगे ।

२. ख्याल में आना । ध्यान में आना । विचार में आना । जैसे,—(क) मै समझता हुँ कि अब तुम्हारी समझ में यह बात आ गई होगी । (ख) तुम समझे न हो तो फिर समझ लो । संयों॰ क्रि॰—जाना ।—पड़ना ।—रखना ।—लेना । मुहा॰—समझ बूझकर = अच्छी तरह जानकर । ज्ञानपूर्वक । जैसे,—तुमने बहुत समझ बूझकर यह काम किया है । समझ रखना = अच्छी तरह जान रखना । भली भाँति हृदयंगम करना । जैसे,—तुम समझ रखो कि अपने किए का फल तुम्हें अवश्य भोगना पड़ेगा । समझ लेना = (१) बदला लेना । प्रतिशोध लेना । जैसे,—कल तुम चौक में आना; तुमसे समझ लेंगे । (२) समझौता करना । निपटारा । जैसे,—आप रुपए दे दीजिए; हम दोनों आपस में समझ लेंगे ।