सिद्ध

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

सिद्ध ^१ वि॰ [सं॰]

१. जिसका साधन हो चुका हो । जो पूरा हो गया हो । जो किया जा चुका हो । सपन्न । संपादित । निबटा हुआ । अंजाम दिया हुआ । जैसे,—कार्य सिद्ध होना ।

२. प्राप्त । सफल । हासिल । उपलब्ध । जैसे,—मनोरथ सिद्ध होना । प्रयत्न सिद्ध होना । उद्देश्य सिद्ध होना ।

३. प्रयत्न में सफल । कृतकार्य । जिसका मतलब पूरा हो चुका हो । कामयाब ।

४. जिसका तप या योगसाधन पूरा हो चुका हो । जिसने योग या तप द्वारा अलौकिक लाभ या सिद्धि प्राप्त की हो । पहुँचा हुआ । जैसे,—बाबाजी बड़े सिद्ध महात्मा हैं ।

५. करामाती योग की विभूतियाँ दिखानेवाला ।

६. मोक्ष का अधिकारी ।

७. लक्ष्य पर पहुँचा हुआ । निशाने पर बैठा हुआ ।

८. जो ठीक घटा हो । जिस (कथन) के अनुसार कोई बात हुई हो । जैसे,—वचन सिद्ध होना, आशीर्वाद सिद्ध होना ।

९. जो तर्क या प्रमाण द्वारा निश्चित हो । प्रमाणित । साबित । निरूपित जैसे,—अपराध सिद्ध करना । कथन को सत्य सिद्ध करना । व्याकरण का प्रयोग सिद्ध करना ।

१०. जिसका फैसला या निबटारा हो गया हो । फैसल । निर्णीत ।

११. शोधित । अदा किया हुआ । चुकता (ऋण आदि) ।

१२. संघटित । अंतर्भूत । जैसे,—स्वभावसिद्ध बात ।

१३. जो अनुकूल किया गया हो । कार्यसाधन के उपयुक्त बनाया हुआ । गौं पर चढ़ाया हुआ । जैसे,—उसको हम कुछ रुपये देकर सिद्ध कर लेगें ।

१४. आँच पर मुलायम किया हुआ । सीझा हुआ । पका हुआ । उबला हुआ । जैसे,—सिद्ध अन्न । उ॰—वही के सिद्ध रंग से उसे रंगते ।—प्रेमघन॰, भा॰ २, पृ॰ २३६ ।

१५. प्रसिद्ध । विख्यात ।

१६. बना हुआ । तैयार । प्रस्तुत । उ॰—पाछे दरजी वे बागा सब सिद्ध करि लायो ।—दो सौ बावन॰, पृ॰ १७२ ।

१७. बसा हुआ । स्थापित (को॰) ।

१८. वैध । न्याय्य (को॰) ।

१९. सच माना हुआ (को॰) ।

२०. वश में किया गया । जीता गया (को॰) ।

२२. पूर्णतः विज्ञ दक्ष (को॰) ।

२३. पावन । पवित्र । पुण्यात्मा (को॰) ।

२४. दिव्य । अविनश्वर । नित्य (को॰) ।

२५. संतुष्ट (को॰) ।

२६. स्वकीय । निजी । व्यक्तिगत (को॰) ।

सिद्ध ^२ संज्ञा पुं॰

१. वह जिसने योग या तप में सिद्धि प्राप्त की हो । योग या तप द्वारा अलौकिक शक्ति प्राप्त पुरुष । जैसे,—यहा ँ एक सिद्ध आए हैं ।

२. कोई ज्ञानी या भक्त महात्मा । मोक्ष का अधिकारी पुरुष ।

३. एक प्रकार के देवता । एक देवयोनि । विशेष—सिद्धों का निवास स्थान भूवलोक कहा गया है । वायु- पुराण के अनुसार उनकी संख्या अठासी हजार है और वे सूर्य के उत्तर और सप्तर्षि के दक्षिण अंतरिक्ष में वास करते हैं । वे अमर कहे गए हैं पर केवल एक कल्प भर तक के लिये । कहीं कहीं सिद्धों का निवास गंधर्व, किन्नर आदि के समान हिमालय पर्वत भी कहा गया है ।

४. अर्हत । जिन ।

५. ज्योतिष का एक योग ।

६. व्यवहार । मुकदमा । मामला ।

७. काला धतूरा ।

८. गुड़ ।

९. ज्योतिष में विष्कंभ आदि २७ योगों में से इक्कसीवाँ योग ।

१०. कृष्ण सिंदुवार । काली निर्गुडी ।

११. सफेद सरसों ।

१२. सेंधा नमक (को॰) ।

१३. जादूगर । ऐंद्रजालिक (को॰) ।

१४. चौबीस की संख्यां (को॰) ।

१५. बाजीगरी ।

१६. अलौकिक शक्ति (को॰) ।