सेमिटिक

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

सेमिटिक संज्ञा पुं॰ [अं॰ शाम ( = एक देश का नाम तथा इसराईल की संतति में से एक)]

१. मनुष्यों के आधुनिक वर्ग विभाग में वह वर्ग जिसके अंतर्गत यहूदी, अरब, सीरियन, मिस्त्री आदि लाल समुद्र के आस पास बसनेवाली, नई पुरानी जातियाँ हैं । विशेष—मूसा, ईसा और मुहम्मद इसी वर्ग के थे जिन्होंने पैगंबरी मत चलाए । यह वर्ग आर्य वर्ग से भिन्न है जिसमें हिंदू, पारसी, युरोपियन आदि हैं ।

२. उक्त वर्ग के लोगों द्वारा बोली जानेवाली भाषाओं का वर्ग । विशेष—इस भाषावर्ग के इबरानी और अरबी तथा असीरियन, फिनीशियन आदि प्राचीन भाषाएँ हैं । यह वर्ग आर्यवर्ग से सर्वथा भिन्न है जिसके अंतर्गत संस्कृत, पारसी, लैटिन, ग्रीक आदि प्राचीन भाषाएँ और हिंदी, मराठी, बँगाली, पंजाबी, पश्तो, गुजरादी आदि उत्तर भारत की भाषाएँ तथा अँगरेजी, फ्रांसीसी, जर्मन आदि योरप की आधुनिक भाषाएँ हैं ।