खुबानी

विक्षनरी से
(ख़ूबानी से अनुप्रेषित)
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

हिन्दी[सम्पादन]

संज्ञा[सम्पादन]

ख़ूबानी स्त्री॰

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

खुबानी संज्ञा स्त्री॰ [फा॰ खुबानी] एक प्रकार का मेवा । जर- दालु । कुशमालु । विशेष—इसका पेड़ काबुल की पहाड़ियों पर होता है । वही से यह मेवा भारत में आता है । इसे जरदालु भी कहते हैं । इसके फल सुखा लिए जाते है और इसके बीजों से तेल निकाला जाता है, जिसे 'कड़ुए' बादाम का तेल' कहते हैं । इसके पेड़ से एक प्रकार का कतीरे की भाँति का गोंद निकलता है, जिसे 'चेरी गम' कहते है । इसके फल मई से सितंबर तक पकते हैं । इसका पेड़ मझोले डील का होता है और हर साल इसके पत्ते झड़ते हैं ।