तरबूज

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

तरबूज संज्ञा पुं॰ [फा़॰ तरबुज, तरबुजह्] एक प्रकार की बेल ज ो जमीन पर फैलती है और जिसमें बहुत बडे़ बडे़ गोल फल लगते हैं । कलींदा । कालिंद । कलिंग । विशेष—ये फल खाने के काम में आते हैं । पके पलों को काटने पर इनके भीतर झिल्लीदार लाल या सफेद गूदा तथा मीठा रस निकलता है । बीजों का रंग लाला या काला होता है । गरमी के दिनों में तरबूज तरावत के लिये खाया जाता है । पकने पर भी तरबूज के छिलके का रंग गहरा हरा होता है । यह बलुए खेतों में, विशेषतः नदी के किनारे के रेतीले मैदानों में जाडे़ के अंत में बोया जाता है । संसार के प्रायः सब गरम देशों में तरबूज होता है । यह दो तरह का होता है—एक फसली या वार्षिक, दूसरा स्थायी । स्थायी पौधे केवल अमेरिका के मेक्सिको प्रदेश में होते हैं जो कई साल तक फलते फूलते रहते हैं ।