अँकरवरी

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अँकरवरी पु † संज्ञा स्त्री॰ [हि॰ अंकर+ बरी या औरों (प्रत्य॰)] अँकड़ी । कंकड़ी । उ॰—काँट न चुभै न गड़ै अँकरवरी ।—जायसी ग्रं॰ (गुप्त॰) छँद १३७ ।