अँगना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अँगना ^१ † संज्ञा पुं॰ [ सं॰ अङ्गण, अङ्गन ] आँगन । चौक । उ॰— घर अँगना करि डार्याँ मो घर सब जोरे हाथ ।—भारतेंदु ग्रं॰, भा॰ २, पृ॰ ३८४ ।

अँगना ^२पु संज्ञा स्त्री॰ [ सं॰ अङ्गना ] स्त्री । नारी । उ॰— उडत गुडी़ लखि ललन की अँगना अँगना माँह ।—बिहारी र॰, दो॰ ३७३ ।